POK से उठेगी भारत में शामिल होने की मांग 2020-Big Attack

0
920

POK News

पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर यानी POK पर भारत की धमक बढ़ रही है। पहले POK में सर्जिकल स्ट्राइक हुई फिर सेना ने घुसकर आतंकी चौकियां तबाह कर दीं। अब मौसम विभाग ने गिलगिट और मुजफ्फराबाद की जानकी देनी शुरू कर दी है।
इन्हीं सब बातों के आधार पर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने चुनौती भरे अंदाज में कहा है कि इंतजार कीजिए, कुछ दिन में POK से ही भारत में शामिल होने की मांग उठेगी।

भाजपा के जम्मू जन संवाद के दौरान POK के बारे में राजनाथ सिंह ने कहा कि कुछ दिन इंतजार कीजिए, पीओके से ही मांग होगी कि हम भारत के साथ रहना चाहते हैं, पाकिस्तान के कब्जे में नहीं। मैं आपको बताना चाहूंगा कि जिस दिन यह होगा, हमारी संसद का भी संकल्प पूरा हो जाएगा।’ बता दें कि मोदी सरकार ने संसद में कहा था कि पीओके भारत का हिस्सा है।

पीओके के बारे में और संकेत देते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि मौसम बदल चुका है और हमारे चैनल्स मुजफ्फराबाद-गिलगिट का तापमान बता रहे हैं। ये दर्जा हरारत बताने के कारण अब इस्लामाबाद में भी कुछ हरारत महसूस होने लगी है। इसलिए वे कुछ ज्यादा शरारत करने पर आमादा हैं। हाल के दिनों पाकिस्तान की ओर से कश्मीर में सीजफायर का उल्लंघन बढ़ गया है।

POK से उठेगी भारत में शामिल होने की मांग 2020.
POK से उठेगी भारत में शामिल होने की मांग 2020.

POK -अब कश्मीर में ISIS का झंडा नहीं दिखता

रक्षा मंत्री ने अपने संबोधन के दौरान 1947 में कश्मीर घाटी में तिरंगा फहराने वाले मोहम्मद मकबूल शेरवानी को भी याद किया। रक्षा मंत्री ने कहा कि पहले कश्मीर में आजादी के नारे लगते थे और पाकिस्तान और आईएसआईएस के झंड़े दिखाई देते थे, लेकिन अब यहां सिर्फ भारत का तिरंगा शान से लहराता है।

CHINA TECHNOLOGY: चीन ने नाप दिया MOUNT EVEREST,4 मीटर कम

प्रवासी श्रमिकों को ले CM नीतीश का बड़ा फैसला मिलेगा पांच किलो मुफ्त अनाज

POK -विश्वसनीयता का संकट नहीं पैदा होने देंगे

राजनाथ सिंह ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने का जिक्र करते हुए कहा कि कई बार भाजपा के कार्यकर्ताओं को भी लगता था कि ये सिर्फ घोषणा पत्र के वादे हैं, लेकिन जैसे ही हमें पूर्ण बहुमत मिला हमने इस धारा को खत्म कर दिया। राजनाथ सिंह ने कहा कि बीजेपी कभी भी राजनीति में विश्वसनीयता का संकट पैदा नहीं होने देगी।

बढ़ गई है पाकिस्तान की शरारत

पीओके के बारे में और संकेत देते हुए राजनाथ सिंह ने कहा, ‘ मौसम बदल चुका है और हमारे चैनल्स मुजफ्फराबाद-गिलगिट का तापमान, दर्जा हरारत बता रहे हैं। ये दर्जा हरारत बताने के कारण अब इस्लामाबाद में भी कुछ हरारत महसूस होने लगी है। इसलिए वे कुछ ज्यादा शरारत करने पर आमादा हैं।’ हाल के दिनों पाकिस्तान की ओर से कश्मीर में सीजफायर का उल्लंघन बढ़ गया है।

कश्मीर में मारे गए सरपंच अजय पंडिता को दी श्रद्धांजलि

हाल ही में आतंकियों के हाथ मारे गए सरपंच अजय पंडिता की हत्या की निंदा करते हुए राजनाथ सिंह ने कहा, ‘मैं सरपंच अजय पंडिता को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं, जोकि एक कायराना हमले में मारे गए। मैं बारामुला के मोहम्मद मकबूल शेरवानी को भी श्रद्धांजलि देता हूं, जिन्होंने 1947 में घाटी में तिरंगा लहराया।

चीन के साथ सैन्य लेवल पर बातचीत

भारत-चीन के बीच जो भी विवाद पैदा हुआ है, इस समय सैन्य लेवल पर बात चल जारी है। चीन ने भी ये इच्छा व्यक्त की है कि बात-चीत से इसका समाधान निकाला जाना चाहिए। हमारी कोशिश भी यही है कि सैन्य और डिप्लोमेटिक स्तर पर बात-चीत से इसका समाधान निकाला जाए। राजनाथ सिंह ने कहा, किसी को भी अंधेरे में नहीं रखा जायेगा। समय आने पर देश की संसद और विपक्ष को इस बारे में विश्वास में लिया जाएगा। इसके साथ ही रक्षा मंत्री ने साफ किया कि देश की संप्रभुता से किसी प्रकार का कोई समझौता नहीं किया जाएगा।

370 पुराना दाग था, मोदी सरकार ने खत्म किया

राजनाथ सिंह ने कहा, अनुच्छेद 370 का बहुत पुराना दाग था वो भी मोदी सरकार में समाप्त हुआ। उन्होंने कहा, कश्मीर में पहले कश्मीर की आजादी को मुद्दा बनाकर आंदोलन होते थे। उन आंदोलनों में कश्मीर के झंडे की जगह पाकिस्तान और ISIS का झंडा हमें दिखता था। लेकिन अब कश्मीर की धरती पर अगर दिखता है कोई तो वो है विजयी विश्व तिरंगा प्यारा, झंडा ऊंचा रहे हमारा। राजनाथ सिंह ने कहा, 2014 से लेकर 2019 तक जम्मू कश्मीर के विकास के लिए हमारी सरकार ने 2 लाख करोड़ रुपये से अधिक हमारी सरकार ने आवंटित किए हैं।

 

Source: Dainik Jagran

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here