हाइलाइट्स

  • प्रवासी मजदूरो को लेकर बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने लालू प्रसाद यादव पर साधा निशाना।
  • लालू की पार्टी कभी प्रवासी मजदूरों को फूल-माला भेंट करने की सोचती है, तो कभी उनसे पार्टी का सदस्यता फार्म भरवाना चाहती है: सुशील मोदी।

बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी (sushil kumar modi) ने आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) पर निशाना साधते हुए कहा कि इस कठिन समय में मजदूरों (migrant laborers) की कोई मदद करने के बजाय लालू प्रसाद की पार्टी कभी उन्हें फूल-माला भेंट करने की सोचती है, तो कभी उनसे पार्टी का सदस्यता फार्म भरवाना चाहती है।

बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी का कहना है कि केंद्र और राज्य की सरकारें ट्रेन-बस से प्रवासी मजदूरों गृह प्रखंड तक पहुंचाने में लगी हैं। अब तक 231 स्पेशल ट्रेनों के जरिये 3 लाख से ज्यादा मजदूरों को सुरक्षित बिहार लाया जा चुका है। घर वापसी करने वाले सभी प्रवासी मजदूर राज्य सरकार के बनाये बेहतर सुविधा के साथ क्वारंटीन सेंटर में रह रहे है। 21 दिन के क्वारंटीन के बाद राज्य सरकार उन्हें घर तक पहुंचाने का काम भी करेगी। लेकिन आरजेडी के लोग मजदूरों के आंसुओं से वोट की फसल सींचना चाहता है।

1000 श्रमिक स्पेशल ट्रेन का और होगा परिचालन

सुशील मोदी ने यह भी बताया कि बिहार के अनुरोध पर बड़ी संख्या में श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलने लगीं। 1000 और ट्रेनें चलायी जाने वाली हैं। उन्होंने कहा कि पैदल, साइकिल या ट्रक से सफर करने वाले मजदूरों से धैर्य रखने और ट्रेन से ही घर लौटने की अपील लगातार की जा रही है। तमाम इंतजाम और एहतियात के बीच पटरी या सड़क पर होने वाले हादसे अत्यंत दुखद हैं। यूपी की सड़क दुर्घटना में 24 मजदूरों की मृत्यु पर भी लालू प्रसाद का राजनीति करना मानवीय संवेदना की अन्त्येष्टि है।

 

प्रवासी मजदूरों को पार्टी सदस्य बनाने में जुटी आरजेडी

आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने सदस्यता अभियान के तहत घर वापसी करने वाले मजदूरों को ही सदस्य बनाने का निर्देश पार्टी कार्यकर्ताओं को जारी किया है। आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने जारी निर्देश में पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि लॉकडाउन की वजह से सदस्यता ग्रहण का काम रुक गया है। लेकिन अब बड़ी संख्या में दूसरे राज्यों से आ रहे मजदूर पार्टी से जुड़ना चाहते हैं, लेकिन लॉकडाउन की वजह से सीधे सदस्य बनाना संभव नहीं है। ऐसे में सभी साथियों की प्राथमिक जिम्मेदारी है कि अधिक से अधिक लोगों से मोबाइल पर संपर्क कर उन्हें आरजेडी की सदस्यता ग्रहण करने के लिए उत्साहित करें।

Source: Nav Bharat Times

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here