Amphan चक्रवात के दौरान महिला ने ओडिशा के केंद्रपाड़ा जिले में अग्निशमन वाहन के अंदर एक लड़की को जन्म दिया। उप अग्निशमन अधिकारी पी के दास ने कहा कि मां और नवजात दोनों स्वस्थ हैं और उन्हें महाकालपाड़ा में सरकारी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती करा दिया गया है। दास ने बताया कि परिवार ने इसे लेकर सुबह आठ बजे जानकारी दी। फायर ब्रिगेड की टीम तुरंत महिला की मदद के रवाना हो गई, लेकिन चक्रवात के कारण टूटे पड़े पेड़ के कारण वहां पहुंचने में देरी हो गई। महिला को लेकर आते वक्त रास्ते में ही उसे लेबर पेन होने लगा, जिसके बाद उसने अग्निशमन वाहन के अंदर बच्ची को जन्म दिया।

बंगाल की खाड़ी में उठे चक्रवात एम्फन तेजी से आगे बढ़ रहा है और यह बंगाल तट के बेहद करीब पहुंच गया है। दोपहर के बाद यह चक्रवात जमीन से टकराएगा। भारतीय मौसम विभाग के अनुसार एम्फन चक्रवात दोपहर 12.30 बजे दीघा से 95 किमी दूर दक्षिण-पूर्व में केंद्रीत रहा। बंगाल की उत्तर पश्चिमी खाड़ी में उठे एम्फन सुपर साइक्लोन से अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान (Extremely Severe Cyclonic Storm) में तब्दील हो गया है।

बता दें कि यह चक्रवात आज दोपहर के बाद बंगाल के दीघा-हातिया तट पर सुंदरवन के पास स्थल भाग से टकराएगा। इस दौरान हवा की गति 155-165 किलोमीटर प्रतिघंटा से 185 किलोमीटर होने की संभावना है। 4 से 5 मीटर की समुद्री लहरें उठने के आसार हैं। इससे पहले चक्रवात सुबह 11.30 बजे दीघा से 125 किमी दूर दक्षिण-पूर्व में केंद्रीत रहा।

LIVE Amphan Cyclone Update

ओडिशा और पश्चिम बंगाल में NDRF की 41 टीमें तैनात

एनडीआरएफ के प्रमुख एसएन प्रधान ने कहा कि ओडिशा के तटीय इलाकों के पास हवा की गति बढ़ी है और पारादीप में लगभग 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चल रही है। पश्चिम बंगाल में हवा इतनी तेज नहीं है। ओडिशा ने बालासोर और भद्रक और पश्चिम बंगाल से लगभग 1.5 लाख लोगों को निकाला है। 3.3 लाख से अधिक लोगों को निकाला गया है। उन्होंने कहा, ‘ हमारा ध्यान लैंडफॉल के समय और संभावित गति पर ध्यान है। इस दौरान 4 से 5 मीटर की समुद्री लहरें उठने के आसार हैं। एनडीआरएफ की टीमें स्थानीय प्रशासन के साथ समन्वय कर रही हैं। ओडिशा और पश्चिम बंगाल में 41 टीमें तैनात हैं।’

चक्रवात एम्फन के मद्देनजर पश्चिम बंगाल के जोगेशगंज और उत्तर 24 परगना में ग्रामीणों और पशुों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया जा रहा है।

Amphan चक्रवात के मई 21 की सुबह तक तीव्र रहने की संभावना

आइएमडी कोलकाता ने जानकारी दी थी कि चक्रवात दीघा से 177 किमी दूर दक्षिण-पूर्व में केंद्रीत रहा। इसके कोलकाता के करीब उत्तर उत्तरपूर्व की ओर बढ़ने की संभावना है। चक्रवात के मई 21 की सुबह तक तीव्र रहने की संभावना है।

नौसेना बचाव कार्य के लिए तैनात

भारतीय नौसेना ने जानकारी दी है कि चक्रवात एम्फन के मद्देनजर ओडिशा और पश्चिम बंगाल के लिए जेमिनी बोट और मेडिकल टीम के साथ 20 बचाव दलों को तैयार हैं। इसके अलावा नौसेना के एयरक्राफ्ट नौसेना स्टेशनों विशाखापतनम में आईएनएस डेगा और अराकोणम में आइएनएस राजाली राहत-बचाव कार्यों के लिए तैयार हैं।

अगले 6-7 घंटे काफी  महत्वपूर्ण

ओडिशा के विशेष राहत आयुक्त  पीके जेना ने कहा कि यह चक्रवात 18-19 किलोमीटर प्रतिघंटा के रफ्तार से आगे बढ़ रहा है। आज देर शाम तक इसके जमीन से टकराने की आशंका है। अगले 6-7 घंटे काफी  महत्वपूर्ण है। एम्फन सुपर साइक्लोन से अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान (Extremely Severe Cyclonic Storm) में तब्दील हो गया है।

Amphan : कोलकाता एयरपोर्ट बंद

बंगाल की खाड़ी मे उठे चक्रवात एम्फन के कारण कल सुबह 5 बजे तक कोलकाता एयरपोर्ट को बंद कर दिया गया। इस दौरान कोरोना वायरस (COVID-19)के मद्देनजर संचालित विशेष विमानों का भी संचालन नहीं होगा। हवाई अड्डे के निदेशक ने इसकी जानकारी दी है। भारतीय तटरक्षक जहाजों और विमानों को  बचाव और राहत प्रयासों के लिए स्टैंडबाय पर रखा गया है।

पारादीप में 102 किलोमीटर प्रति घंटा के रफ्तार से हवाएं चली

इससे पहले भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने जानकारी दी थी कि पारादीप में 102 किलोमीटर प्रति घंटा के रफ्तार से हवाएं चल रही हैं। चांदबली में हवा की रफ्तार 74 किलोमीटर प्रति घंटा है। इसके बालासोर में 61 किलोमीटर प्रति घंटा और पुरी में 41 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से हवाएं चली हैं। भारतीय मौसम विभाग ने जानकारी दी थी कि चक्रवात एम्फन आज सुबह 10.30 बजे ओडिशा के पारादीप से 120 किलोमीटर दूर था।

भारी तबाही की आशंका

बंगाल तट पर पहुंचने के दौरान तेज हवाओं के साथ राज्य के तटीय जिलों में भारी बारिश और 4 से 5 मीटर की समुद्री लहरें उठने के आसार हैं। बंगाल के पूर्वी मेदिनीपुर, दक्षिण और उत्तर 24 परगना, हावड़ा, हुगली और कोलकाता के जिले प्रभावित होने की उम्मीद है। इससे भारी तबाही की आशंका हैै। केंद्र सरकार ने संबंधित राज्यों को सतर्क करते हुए भारी तबाही की चेतावनी दी है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here